व्याकरण जनसंचार की विधाएं

जनसंचार को समझने के लिए संचार के स्वरूप को समझना बहुत जरूरी है |प्रश्न –  संचार क्या है? उत्तर – मनुष्य सामाजिक प्राणी है सामाजिक प्राणी होने के कारण वह संचार करता है | संचार का मतलब विचरण करना | दैनिक जीवन में संचार के बिना हम जीवित नहीं रह सकते | क्योंकि मनुष्य जबContinue reading “व्याकरण जनसंचार की विधाएं”

आरोह अध्याय तीसरा काव्य भाग

आज हम आरोह पुस्तिका का तीसरा अध्याय करेंगे – पथिक (कवि रामनरेश त्रिपाठी) प्रश्न- पथिक का मन कहां विचरना चाहता है ? उत्तर –   पथिक प्रकृति के सौंदर्य से अभिभूत है | प्रतिक्षण नूतन  वेश धारण करने वाली बादलों की पंक्ति को तथा नीले समंदर की लहरों को देखकर वह  मुग्ध हो रहा हैContinue reading “आरोह अध्याय तीसरा काव्य भाग”

व्याकरण फीचर लेखन

फीचर लेखन के गुण: 1 – विश्वसनीयता 2 – सरसता एवं सहजता 3 – रोचकता एवं संक्षिप्त ता 4 – प्रसंगिकता 5 – प्रचलित शब्दावली का प्रयोग फीचर लेखन का क्रम: 1 शीर्षक 2 भूमिका   3 विषय का विस्तार   4 निष्कर्ष या समापन फीचर  लेखन कोनी मलिक श्रेणियों में बांटा जा सकता हैContinue reading “व्याकरण फीचर लेखन”

आरोह अध्याय चौथा काव्य भाग

आज हम आरोह पुस्तिका काव्य भाग का चौथा अध्याय करेंगे – वे आंखें (सुमित्रानंदन पंत) प्रश्न –कविता भी आंखें में किसान की पीड़ा के लिए किसे जिम्मेदार बताया गया है? उत्तर – किसान की पीड़ा के लिए जमीदार और महाजन तथा क्रूर कोतवाल को जिम्मेदार ठहराया गया है | महाजन ने अपना ब्याज और ऋणContinue reading “आरोह अध्याय चौथा काव्य भाग”

आरोह अध्याय पांचवा काव्य भाग

आज हम आरोह पुस्तिका काव्य भाग का चौथा अध्याय करेंगे – घर की याद (भवानी प्रसाद मिश्र) प्रश्न – पानी के रात भर गिरने और प्राण मन के गिरने से परस्पर क्या संबंध है ? उत्तर – राष्ट्रीय आंदोलन से जुड़े हुए कवि भवानी प्रसाद मिश्र को भारत छोड़ो आंदोलन के अंतर्गत जेल यात्रा कीContinue reading “आरोह अध्याय पांचवा काव्य भाग”

आज हम आरोह पुस्तिका काव्य भाग का छटा अध्याय करेंगे – चंपा काले काले अक्षर नहीं चीनती

प्रश्न – कवि ने चंपा की किन विशेषताओं का उल्लेख किया है? उत्तर – कवि ने चंपा की निम्नलिखित विशेषताओं का उल्लेख किया है – – भोलापन | – अनपढ़ | – शरारती स्वभाव | – मुखर स्वभाव –  मन की बात को बिना छिपाए सीधे मुंह पर कहना | – आत्मीयता  – परिवार केContinue reading “आज हम आरोह पुस्तिका काव्य भाग का छटा अध्याय करेंगे – चंपा काले काले अक्षर नहीं चीनती”

आज हम वितान पुस्तिका का तीसरा अध्याय करेंगे – आलो आधारि |

प्रश्न – पाठ् के किन अंशओ से समाज की यह सच्चाई उजागर होती है कि पुरुष के बिना स्त्री का कोई अस्तित्व नहीं है क्या वर्तमान समय में स्त्रियों की इस सामाजिक स्थिति में कोई परिवर्तन आया है ? तर्क सहित उत्तर दीजिए | उत्तर – आलो आधार पाठ में कई स्थलों पर इस ओरContinue reading “आज हम वितान पुस्तिका का तीसरा अध्याय करेंगे – आलो आधारि |”

आज हम वितान पुस्तिका का तीसरा अध्याय करेंगे – आलो आधारि |

प्रश्न – पाठ् के किन अंशओ से समाज की यह सच्चाई उजागर होती है कि पुरुष के बिना स्त्री का कोई अस्तित्व नहीं है क्या वर्तमान समय में स्त्रियों की इस सामाजिक स्थिति में कोई परिवर्तन आया है ? तर्क सहित उत्तर दीजिए | उत्तर – आलो आधार पाठ में कई स्थलों पर इस ओरContinue reading “आज हम वितान पुस्तिका का तीसरा अध्याय करेंगे – आलो आधारि |”